डोनाल्ड ट्रम्प की “अमेरिका फर्स्ट” नीति कहीं, व्यापार युद्ध का कारण ना बन जाए

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अपनी पूर्व घोषणा के मुताबित 50 अरब डॉलर के चीनी उत्पादों पर 25 प्रतिशत अतिरिक्त शुल्क लगाने की घोषणा कर दी. इस नए शुल्क से तिलमिलाए चीन ने भी अमेरिका को जवाब दे दिया हे।

 

चीन ने भी अमेरिका के 50 अरब डॉलर के उत्पादों पर 25 प्रतिशत शुल्क लगाने की घोषणा कर दी है।  अब देखना होगा की दुनिया के दो ताकतवर अर्थव्यवस्था वाले देश के टकराने का क्या परिणाम निकलता है।
अमेरिका पर जवाबी शुल्क लगाने से चीन ने भी दिखा दिया है की, अब वह अमेरिका के दवाब में नहीं आने वाला है।  वही अमेरिका की चीन से दूरिया बढ़ती जा रही है , जिसका फ़ायदा शायद भारत को आने वाले दिनों में मिले।
हलाकि अमेरिका के इस फैसले से एक बात को साफ़ है की, डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका फर्स्ट की नीति के तहत ही काम करेंगे जैसा उन्होंने चुनावो में वादा किया था।  ट्रम्प के अमेरिका महान बनाने की कोशिश में कही ना बिज़नेस वर्ल्ड वॉर शुरू हो जाए।
अगर इस तरह का कुछ दुनिया में होता है तो, आने वाले दिनों में पुरे विश्व में अर्थव्यवस्था को लेकर लोगो की चिंताए बढ़ जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *