बिहार बोर्ड का दसवीं का रिजल्ट जारी

पटना। बिहार के शिक्षामंत्री ने बोर्ड मैट्रिक की परीक्षा का परिणाम जारी कर दिया है। इस बार 68 प्रतिशत छात्रों ने सफलता पाई है। मैट्रिक में इस बार छात्राओं ने बाजी मारी है और तीनों टॉपर छात्राएं घोषित की गईं हैं।

497 अंक लेकर प्रेरणा राज पहली टॉपर घोषित की गई हैं। दूसरे स्थान पर प्रज्ञा हैं तो तीसरे स्थान पर शिखा ने बाजी मारी है। तीनों टॉपर छात्राएं सिमुलतला आवासीय विद्यालय की हैं।

28 जून से स्क्रूटनी और जुलाई में कंपार्टमेंटल की परीक्षा

बिहार बोर्ड परीक्षा के टॉप-10 में 23 छात्र शामिल हैं जिसमें सिमुलतला विद्यालय के 16 छात्र हैं। 28 जून से स्क्रूटनी के लिए ऑनलाइन आवेदन लिये जाएंगे और कंपार्टमेंटल परीक्षा जुलाई में ली जाएगी। अगस्त महीने में रिजल्ट जारी किया जाएगा।

बोर्ड अध्यक्ष ने कहा-परीक्षाफल पूरी तरह से निष्पक्ष है

रिजल्ट जारी होने के बाद बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि पिछली बार की अपेक्षा इस बार रिजल्ट काफी बेहतर रहा है।

बोर्ड समिति सभागार में वार्षिक माध्यमिक परीक्षा, 2018 के परीक्षाफल को जारी किया गया। परीक्षा केंद्रों पर सख्ती से परीक्षा ली गई थी, परीक्षाफल पूरी तरह से निष्पक्ष है।

परीक्षाफल की घोषणा माननीय मंत्री, शिक्षा विभाग, कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने की। इस अवसर पर आरके महाजन (प्रधान सचिव, शिक्षा विभाग) एवं आनंद किशोर (अध्यक्ष, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति) भी उपस्थित रहे।

स्टूडेंट्स अपना रिजल्ट बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट biharboard.ac.in पर चेक कर सकते हैं। रिजल्‍ट थर्ड पार्टी वेबसाइट पर भी देखा जा सकता है। साथ ही आप रिजल्‍ट SMS के जरिए भी प्राप्‍त कर सकते हैं।

कैसे चेक करें अपना परिणाम-

– 10वीं का रिजल्ट चेक करने के लिए आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

Bihar Board 12th Result 2018: पिछले साल की तुलना में बेहतर रहा परिणाम, देखें डिटेल

यह भी पढ़ें

– आपको सबसे पहले वेबसाइट http://bihar10.jagranjosh.com पर विजिट करना होगा।

– पूछे गए रोल नंबर सहित सभी जानकारी को डालें।

– सबमिट बटन पर क्लिक करें रिजल्ट सामने होगा।

– इसे डाउनलोड कर इसका प्रिंटआउट ले सकते हैं।

बता दें कि बिहार बोर्ड मैट्रिक के नतीजे पहले 20 जून को जारी करने वाला था। लेकिन तब गोपालगंज के एक स्कूल से 42000 कॉपियों के गायब हो जाने का खुलासा हुआ।

इसकी वजह से परीक्षा परिणाम को 26 जून तक के लिए टाल दिया गया था। बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा 21 फरवरी से 28 फरवरी तक हुई थी।

इस साल करीब 17 लाख स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। पूरे राज्य के 1,426 केंद्रों में बोर्ड के मैट्रिक की परीक्षाएं आयोजित की गई थीं।

Naidunia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *