सरकार का नया फैसला बैंकिंग, रेलवे और SSC के लिए होगी एक परीक्षा

बैंकिंग, रेलवे और SSC के लिए होगी एक परीक्षा

मोदी सरकार ने सरकारी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे करोड़ों छात्रों के लिए एक नया फैसला किया है. केंद्रीय कैबिनेट ने बैंकिंग, रेलवे और SSC के लिए एक ही परीक्षा कराने का फैसला किया है. इस परीक्षा से उम्मीदवारों का समय और संसाधन की बचत होगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्रीय कैबिनेट की बुधवार को हुई बैठक में सरकार ने नौकरियों के लिए एक ही टेस्‍ट कराने का फैसला किया है . केंद्रीय कैबिनेट ने इस पर मुहर लगा दी है.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इन फैसलों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि देश में सरकारी नौकरियों के लिए 20 से अधिक भर्ती एजेंसियां हैं. सरकारी नौकरी के लिए युवाओं को बहुत से टेस्ट देने होते हैं.

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इसे समाप्त करने के लिए एक ऐतिहासिक फैसला लिया है. राष्ट्रीय भर्ती संस्था (National Recruitment Agency, NRA) कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट लेगी जिसका करोड़ों युवाओं को फायदा मिलेगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा देश के करोड़ों युवाओं के लिए National Recruitment Agency एक वरदान साबित होगी. कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट के जरिए यह कई परीक्षणों को खत्‍म कर देगी. इस कदम से छात्रों का कीमती समय और संसाधनों की बचत होगी. इससे पारदर्शिता को भी बड़ा बढ़ावा मिलेगा.

तीन साल वैलिड रहेगी CET की मेरिट लिस्ट 

केद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने केंद्रीय कैबिनेट के फैसले की जानकारी देते हुए बताया कि कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (Common Entrance Test, CET) की मेरिट लिस्ट तीन साल तक मान्य रहेगी. इस दौरान कैंडिडेट अपनी योग्यता और प्राथमिकता के हिसाब से अलग-अलग सेक्टर में नौकरियों के लिए आवेदन कर सकेंगे. यह एक ऐतिहासिक बदलाव है.

सरकार के इस फैसले से नियुक्तियों और चयन में आसानी होगी. जितेंद्र सिंह ने कहा कि नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी एक क्रांतिकारी सुधार है. इससे इज ऑफ रिक्रूटमेंट, इज ऑफ सिलेक्शन, इज ऑफ जॉब प्लेसमेंट और इज ऑफ लीविंग आएगा. विशेष रूप से उन युवाओं के लिए जो किसी असुविधा के कारण बहुत सारी परीक्षाओं में नहीं बैठ पाते थे. 

Also read: Madhya Pradesh: आखिर क्यों 100% आरक्षण का ऐलान शिवराज सरकार ने किया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *