BCCI ने आधिकारिक तौर पर कहा, वीवो इस साल टाइटल स्पॉन्सर नहीं

BCCI ने गुरूवार को आधिकारिक तौर पर कहा कि, आईपीएल में इस साल वीवो टाइटल स्पॉन्सर नहीं है. बता दें कि चीन के साथ जारी तनातनी के बीच भारत सरकार ने चीन के 59 एप्स को बैन कर दिया था.

चीनी एप्स को बैन किया जाने के बाद से आईपीएल से भी वीवो को हटाने की मांग उठाना शुरू हो गया था. बढ़ते विरोध के बाद वीवो ने खुद ही आईपीएल से अलग होने की घोषणा कर दी थी, लेकिन आधिकारिक तौर पर यह जानकारी नहीं आई थी. गौरतलब हैं कि इस साल आईपीएल यूएई में 19 सितंबर से 10 नवंबर तक होना है.

वीवो ने 2018 में 2190 करोड़ रुपए में 5 साल के लिए आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप डील हासिल की थी. यह करार 2022 में खत्म होना था. इस डील के तहत वीवो बीसीसीआई को हर साल 440 करोड़ रुपए देता है.

सभी टीमों को होगा नुकसान

वीवो से आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप डील रद्द होने से फ्रेंचाइजियों को नुकसान होगा, क्योंकि इन्हें स्पॉन्सरशिप डील में से एक हिस्सा मिलता है. वीवो स्पॉन्सरशिप के लिए हर साल बोर्ड 440 करोड़ रुपए देता है. इसमें से आधा पैसा सभी आठों फ्रेंचाइजियों में बराबर बंटता है. हर एक फ्रेंचाइजी को हर साल 27.5 करोड़ रुपए मिलती है.

वीवो और बीसीसीआई के बीच हो सकती है नई डील

अब बीसीसीआई इस साल नए टाइटल स्पॉन्सर के लिए टेंडर जारी करेगा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईपीएल और वीवो के बीच अगले साल 2021 से 2023 तक के लिए नया करार हो सकता है.

Also read: Wasim Akram ने कहा हमें कभी भारत में सपोर्ट नहीं मिला और न ही भारत को पाकिस्तान में

Source: Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *