पहली बार किसी एशियाई टीम ने साउथ अमेरिकन टीम को फ़ीफ़ा वर्ल्ड कप में हराया

फीफा वर्ल्ड कप 2018 में आज जापान ने कोलंबिया को 2-1 से करारी शिकस्त देकर इतिहास रच दिया है। मोर्दोविया एरिना स्टेडियम में मंगलवार को दोनों टीमों के बीच खेले गए इस मुकाबले में जापान ने जीत के साथ वर्ल्ड कप में अपना खाता खोला।

पिछली बार क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाली कोलंबिया पर जापान इस मैच में पूरी तरह हावी रही। बता दें कि फीफा वर्ल्ड कप में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी एशियाई टीम ने साउथ अमेरिकन टीम को शिकस्त दी है।

मैच के पहले पांच मिनट में ही कोलंबियाई खिलाड़ी कार्लोस सांचेज का हाथ लगने के वजह से जापान को पेनल्टी मिली, जिसे शिंजी कागवा ने बड़ी आसानी से गोल में तब्दील कर दिया।

इसके बाद भी जापान लगातार कोलंबिया पर अटैक करती रही। हालांकि मैच के 38वें मिनट में जुआन फरक्विंटेरो ने बेहतरीन गोल कर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया।

हाफ टाइम का खेल शुरू होने के बाद मैदान पर जापान ने अपने मंसूबे साफ कर दिए। टीम के फॉरवर्ड खिलाड़ी ओसाको ने एक के बाद एक लगातार तीन प्रहार विपक्षी टीम के गोलपोस्ट पर किए, लेकिन गोलकीपर की फुर्ती ने कोलंबिया को मैच में बनाए रखा। हालांकि मैच के 84वें मिनट में ओसाको ने शानदार हैडर का इस्तेमाल करते हुए गोल दागा और टीम 2-1 से आगे हो गई।

source: amar ujala

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *