PM Modi सिर्फ राहुल गांधी से डरते है, इसलिए उन्हें बनाया जाए पार्टी अध्यक्ष – असम चीफ

सोनिया गांधी के कांग्रेस आंतरिम अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की अफ़वाह ने एक बार फिर से कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व पर सवाल उठने लगे है. वही पार्टी के 23 नेताओं द्वारा पार्टी के नेतृत्व पर सवाल उठाया गया है.

रिपुन बोरा ने कहा है कि “कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राज्यसभा सांसदों के साथ हुई पूर्व की वीडियो कॉन्फ्रेंस में भी मैंने सोनिया गांधी से अपील की थी कि कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व राहुल गांधी को सौंपा जाए क्योंकि नरेंद्र मोदी सिर्फ राहुल गांधी से डरते हैं.”

बता दें कि जल्द ही कांग्रेस वर्किंग कमेटी की अहम बैठक होनी है. माना जा रहा है कि इस बैठक में पार्टी नेतृत्व को लेकर कोई फैसला किया जा सकता है.

चर्चाएं हैं कि राहुल गांधी को फिर से पार्टी अध्यक्ष बनाया जा सकता है. हालांकि राहुल गांधी इसके लिए तैयार हैं या नहीं, अभी तक यह साफ नहीं है.

इस चिट्ठी में कांग्रेस नेतृत्व में बदलाव को लेकर हो रही देरी पर भी सवाल उठाए गए हैं. चिट्ठी लिखने वाले नेताओं ने इस बारे में बात करने के लिए सोनिया गांधी से वक्त भी मांगा है. 

चिट्ठी लिखने वालों में आनंद शर्मा, गुलाम नबी आजाद, कपिल सिब्बल, विवेक तनखा, पृथ्वीराज च्वहाण, वीरप्पा मोइली, शशि थरूर, भूपेंद्र हुड्डा, राज बब्बर, मनीष तिवारी, मुकुल वासनिक समेत कई पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी शामिल हैं. 

बता दें कि कांग्रेस में नेतृत्व के मुद्दे पर चल रही चर्चा के बीच पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक आगामी सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से होगी. पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के मुताबिक, सीडब्ल्यूसी की बैठक सोमवार को सुबह 11 बजे आरंभ होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *