Surya Grahan 2020: जानिए किस राशि को होगा फ़ायदा और किसे नुकसान

Surya grahan 2020: दिनांक 21 जून 2020, दिन रविवार आषाढ़ कृष्ण अमावस्या को खंडग्रास सूर्यग्रहण लग रहा है. यह ग्रहण गंड योग और मृगशिरा नक्षत्र एवं मिथुन राशि में होगा.

भारत में सूर्यग्रहण (Surya grahan 2020) का आरम्भ प्रातः 10 बजकर 31 मिनट ,मध्य 12:18 बजे ई मोक्ष दोपहर 2 बजकर 4 मिनट तक रहेगा. सूर्यग्रहण का सूतक 12 घंटे पहले लग जाता है. अब से 3 घंटे बाद सूतक काल लग जाएगा. इस दौरान मंदिरों के कपाट बंद हो जाएंगे और पूजा पाठ नहीं किया जाएगा.

सूतक के दौरान घर में मंत्रों का जाप कर सकते हैं। अतः इस सूर्यग्रहण (Sury grahan 2020) का सूतक 20 जून को रात में 9 बजकर 31 मिनट से आरम्भ हो जाएगा जो कि सूर्यग्रहण ग्रहण के समाप्त होने तक रहेगा.

जानिए राशि वार कैसा रहेगा सूर्य ग्रहण 2020 आप के लिए

मेष : पराक्रम वृद्धि, राजकीय सम्मान या लाभ,संतान से इस संतान को कष्ट.

वृषभ : सुख के साधनों में कमी,आर्थिक परेशानी और व्यापार में अवरोध ,पारिवारिक समस्या या विवाद.

मिथुन : शरीरिक एवं मानसिक कष्ट,दाम्पत्य में तनाव,भाई-बहनों को कष्ट, चोट या आपरेशन की भी संभावना.

कर्क : खर्च में वृद्धि, पेट या पैर की समस्या या शरीर में कहीं चोट लग सकती है,वाणी और संयम रखें.

सिंह : आय एवं आय के साधनों में वृद्धि,शरीरिक कष्ट, दाम्पत्य का सुख मध्यम ,वाणी में मधुरता बनाएं रखें.

कन्या : परिश्रम एवं कार्यो में अवरोध,सीने की तकलीफ या घबराहट,सम्मान में अचानक कमी,माता को कष्ट.

तुला : पराक्रम में वृद्धि,भाग्य में अवरोध ,वाद-विवाद से बचें. संतान से एवम् संतान को दुुख संंभव है

वृश्चिक : अचानक धन खर्च, वाणी पर नियंत्रण रखें ,पेट एवं पैर की समस्या ,अचानक किसी शरीरिक कष्ट से परेशान हो सकते हैं.

धनु : दाम्पत्य जीवन खटास आ सकती है ,प्रेम संबंधों में विवाद या तनाव. मानसिक तनाव या नकारात्मक विचार संभव.

मकर : रोग ऋण एवं शत्रु होंगे पराजित,खर्च में वृद्धि या अधिकता ,यह ग्रहण शुभ फल प्रदान करने वाला होगा.

कुंभ : संतान को कष्ट या संतान से कष्ट संभव, आय में वृद्धि , तनाव व मानसिक परेशानी भी हो सकती है.

मीन : सीने की तकलीफ,माता को कष्ट,वाहन की क्षति ,सम्मान में अचानक कमी,अनियोजित खर्च से आप परेशान हो सकते हैं

Source: Live hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *