पिता माधवराव सिंधिया की राह पर निकलेंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया?

कमलनाथ और सिंधिया के बीच दूरियां बढ़ती जा रही है! दोनों की भी सुला और सफाई की कोई कोशिश भी नहीं की गई! क्योंकि दिल्ली में गांधी परिवार खुद अपने अस्तित्व को बचाने की लड़ाई लड़ रहा है! इसलिए कमलनाथ और सिंधिया के बीच सियासी लड़ाई पर किसी का ध्यान नहीं है! नतीजा यह है कि किसी भी वक्त ज्योतिरादित्य सिंधिया पार्टी छोड़ नई पार्टी बना सकते हैं!

बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के पिता माधवराव सिंधिया ने भी कभी ऐसा ही किया था! सिंधिया के समर्थक उन्हें उसी रास्ते पर चलने के लिए कह रहे हैं! ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों ने उन्हें कांग्रेस से नाता तोड़कर अलग पार्टी बनाने की मांग की है! सिंधिया के समर्थकों का कहना है कि जिस प्रकार माधवराव सिंधिया ने अपने पार्टी बनाई थी! उसी तर्ज पर और उसी पार्टी के पुराने चुनाव निशान उगता सूरज को दोबारा से जीवित करें!

कांग्रेस पार्टी की प्रदेश की महासचिव रुचि ठाकुर गुप्ता ने कहा कि दिल्ली में केजरीवाल किस तरह से चुनाव जीत सकते हैं तो हमारे महाराज तो उनसे हजार गुना ऊपर है! इस विषय में भी पोस्टर बनाकर सिंधिया समर्थकों ने सोशल मीडिया पर वायरल किया! और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं और सिंधिया को भेजा है!

मध्यप्रदेश में सिंधिया समर्थक, मंत्रियों के बाद अब कार्यकर्ताओं भी फ्रंट पर आकर मोर्चा खोल चुके हैं! रुचि ठाकुर ने कहा कि 2018 से हम सब के आदर्श सिंधिया को पार्टी में साइडलाइन किया जा रहा है! उन्होंने कहा कि माफ करो शिवराज वाला नारा ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ही दिया था! जिसकी वजह से राज्य में कांग्रेस की सरकार आई!

सिंधिया पर कमलनाथ के बयान से हम सभी आहत हैं! प्रदेश की कांग्रेस महासचिव महिला ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने नई पार्टी बनाने पर लाखों कार्यकर्ता उनके साथ खड़े होंगे! राज्य सरकार में कई मंत्री उनके साथ है! और अगर सिंधिया नई पार्टी बनाते हैं तो भी वह उनके साथ रहेंगे! दिल्ली में जब केजरीवाल पार्टी बनाकर चुनाव जीत सकते हैं तो ज्योतिरादित्य सिंधिया का आधार तो और ज्यादा है तो वह क्यों नही जीत सकते हैं!

Source : Bharat smachar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *