केरल में मूसलाधार बारिश

केरल में लगातार जारी मूसलाधार बारिश के बाद बाढ के हालात और बिगड़ गए है। पिछले 48 घंटों से हो रही बारिश और तूफान से बाढ का कहर जारी है। राज्य में बाढ़ के चलते 40 साल में पहली बार इडुक्की डैम के पांच शटर खोल दिए गए हैं। राज्य में बाढ़ के चलते मरने वालों की संख्या बढक़र 29 हो गई है। इतना ही नहीं करीब 54 हजार लोगों के बेघर होने की भी खबर है। मौसम विभाग ने एर्नाकुलम और त्रिशूर में हाई अलर्ट तो वयानड जिले में 14 अगस्त तक के लिए रेड अलर्ट जारी कर दिया है।

लबालब भर जाने के बाद इडुक्की डैम के दरवाजे खोल दिए गए। नतीजा ये हुआ कि आसपास के कई इलाके डूब गए। एनडीआरएफ के अलावा सेना, नौसेना और वायु सेना की टीमें लोगों को बचाने में जुटी हैं। गृहमंत्री राजनाथ सिंह 12 अगस्त यानी रविवार को केरल का दौरा करेंगे। सेना की कुल 8 टीमें राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई हैं। ऑपरेशन मदद के तहत सेना ने केरल के पहाड़ी इलाकों से अब तक 55 लोगों को बचा लिया है। वयानड जिले के 1964 परिवारों के 10400 लोगों को राहत कैंपों में शिफ्ट किया गया है।

केरल के कई जिलों में बुधवार से भारी बारिश जारी है जिस वजह से कई इलाके पानी में डूब गए हैं जबकि बांधों में जल स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। बाढ़ से बुरी तरह बेहाल इंदुकी जिले के कलेक्टर जीवन कुमार ने मीडिया को बताया कि उन्होंने लोगों को मुन्नार और आस पास के जिलों में सुरक्षित स्थान पर भेज दिया है जहां पर जलस्तर कम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *