बार-बार CT Scan कराने से हो सकता है कैंसर का खतरा

CT Scan

बार-बार CT Scan कराने को लेकर एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने चेताया है. उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा, बहुत ज्यादा लोग CT Scan करा रहे हैं. यदि कोविड के माइल्ड (हल्के) लक्षण हैं, घर पर हैं और सैचुरेशन ठीक है तो सी.टी. स्कैन से फायदा नहीं है. कुछ पैचेज आएंगे. इसका फायदा नहीं नुकसान ज्यादा है.

एम्स निदेशक ने कहा कि एक सीटी स्कैन 300-400 चेस्ट एक्सरे के बराबर है. बार-बार सी.टी. स्कैन करवाने पर कैंसर का रिस्क होता है. अगर सिम्पटम नहीं है. पहले चेस्ट एक्सरे कराने के बाद अगर जरूरत हो और अगर हॉस्पिटल में हों तो सी.टी. स्कैन कराएं. बायोमार्कर और सी.टी. स्कैन डॉक्टर की सलाह से ही कराएं. 

उन्होंने कहा कि कुछ लोग हर तीन दिन में सीटी स्कैन करा रहे हैं. उन्हें बाद में दिक्कत हो सकती है. माइल्ड में सी.टी. स्कैन और बायो मार्कर न कराएं.

बायोमार्कर से ऐसा नहीं कि पता चले की बीमारी बढ़ी हुई है. गुलेरिया ने कहा कि शुरुआती दौर में स्टेरॉयड नहीं लेना चाहिए. मॉडरेट लक्षण में स्टेरॉयड की ज़रूरत होती है. माइल्ड में स्टेरॉयड नहीं लेना चाहिए. 

देश में कोरोनावायरस के सोमवार को 3.68 लाख नए मामले दर्ज किए है. पिछले 24 घंटे में 3400 से ज्यादा लोगों की घातक वायरस की वजह से जान गई.

Also Read: पीएम मोदी ने कहा, ऑक्सीजन सप्लाई में कोई राज्य रुकावट नहीं करें

Also Read: Supreme Court ने कहा इंटरनेट पर मांग सकते हैं मदद, नहीं होगा कोई केस दर्ज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *