Army Chief ने कहा हम महामारी से लड़ने के लिए दुनियाभर में दवाई भेज रहे है और पाकिस्तान आतंकवाद

Army Chief ashok Mukund Naravane
कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ विश्व एकजुट होकर सामना कर रहा है. लेकिन इस बीच एक ऐसा देश भी हैं जो महामारी के समय में भी आतंकवाद फैला रहा है. आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे (Army Chief Manoj Mukund Naravane) ने पाकिस्तान को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इस संकट के समय में भारत दुनियाभर में मेडिकल टीमें और दवाएं भेज कर मदद कर रही है वही हमारा पड़ोसी पाकिस्तान आतंकवाद का निर्यात कर रहा है.

कोरोना वायरस के संकट के इस घड़ी में भी पाक अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. वह लगातार भारत में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की लगातार कोशिशें कर रहा है.  

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में समाचार एजेंसी एएनआई से सेना प्रमुख नरवणे ने कहा कि जिस वक्त हम न सिर्फ हमारे देश के लोगों बल्कि अन्य देशों के लोगों को भी मेडिकल टीम, दवाएं भेजकर मदद कर रहे हैं, उस वक्त पाकिस्तान सिर्फ आतंक को एक्सपोर्ट कर रहा है. यह अच्छी बात नहीं है.

सीमांत इलाकों में हो रही गोलाबारी
पाकिस्तानी सेना घुसपैठ के प्रयासों के अलावा बीते कई दिनों से जम्मू और कश्मीर से सटी नियंत्रण रेखा पर भारी गोलाबारी करके सीमांत इलाकों को अशांत करने में जुटी हुई है. पाकिस्तान की ओर से उत्तरी कश्मीर समेत राजौरी, पुंछ और कठुआ के कुछ हिस्सों में हुई गोलाबारी के कारण कई स्थानीय नागरिकों की जान भी जा चुकी है.

कश्मीरियों से झूठी दोस्ती का दावा करता है पाकिस्तान
जनरल नरवणे ने कहा कि पाकिस्तान अंतराष्ट्रीय अटेंशन के लिए यह कर रहा है और पाकिस्तान समर्थित आतंकी भी घाटी में निर्दोष आवाम को निशाना बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान कश्मीरियों का दोस्त होने का दावा करता है, मैं पूछना चाहता हूं कौन सा दोस्त हत्या करता है और आतंक फैलाता है। आर्मी चीफ ने कहा कि यहां मैं आवाम से भी मिलने आया हूं और उन्हें भरोसा दिलाने कि हम शांति बनाए रखने के लिए संकल्पबद्ध हैं। रीजन में शांति बहाली की जिम्मेदारी पाकिस्तान की है। जब तक पाकिस्तान आतंकियों को प्रायोजित करना बंद नहीं करता हम सटीकता से उसका माकूल जवाब देते रहेंगे।

Sourec: Live Hindustan & Navbharat

Also Read: Lockdown Guidelines: जानिए किन चीजों पर रहेगी पांबदी और किनको मिलेगी छूट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *