कोरोना के बढ़ते रफ्तार से एक बार फिर ग्रामीण क्षेत्रों मे हलचल हुई तेज

  • एक बार फिर प्रवासी मजदूरो का पलायन
  • किसानो को सताने लगी फसल के दाम

देश मे कोरोना ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ लिया है, एक दिन मे 2.5 लाख से जादा केस आने लगा है, मध्यप्रदेश सरकार ने सभी प्रमुख शहरो मे धारा 144 लगा दिया है, वही उत्तर प्रदेश की बात की जाये तो वहा के मुखीया योगी आदित्यनाथ जी खुद पॉजिटिव हो गए है, और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी पॉजिटिव पायें गए है.

अलाहाबद हाईकोर्ट ने भी आज प्रयागज, लखनऊ, कानपुर, बनारस, गोरखपुर मे 26 अप्रैल तक लकडाउन का आदेश प्रदेश सरकार को दिया है.

एक बार फिर प्रवासी मजदूरो का पलायन

देश के प्रमुख शहरों से एक बार फिर प्रवासीयो का पलायन शुरु हो गया है, लोग अपने गाँव की तरफ पैदल, ऑटो, बस, साइकल जो मिल रहा है उसी से निकल गए है, कुछ प्रवासी बताते है कि हमन पिछले साल लॉकडाउन मे बहुत मुसीबत झेले है ऐसे मे हम समय रहते अपने गॉव को निकल गए है.

दिल्ली के प्रमुख बसटैंड पर भारी भीड़ देखी जा रही है, यही हाल महारास्ट्र के प्रमुख शहर का भी है, जहाँ हजारो की संख्या मे लोग अपने प्रदेश, व गाव जाते देखे जा रहे है, मुंबई से आ रहे एक निसार बताते है, की मुंबई से ट्रेन ना मिलने पर वे मुंबई से इंदौर , इंदौर से प्रयागराज फिर प्रयागराज से पटना जायेंगे, तब जा कर 4दिन अपने गाव पहुुंचेगे.

उधर दिल्ली सरकार ने प्रवासीयो से कहीं न जाने कि अपील की है, साथ ही छोटे लकडाउन का पालन करने का अपील किया है.

किसानो को सताने लगी फसल का दाम

जहाँ एक ओर प्रवासी का आना लगा है, वही किसानो को उनकी फसल सताने लगी है, कही पिछले साल की तरह इस साल भी पूरी फसल खेत मे ही ना रह जाये। इंदौर के रामसिंह पटेल बताते है, पिछले साल उनका लगभग 2-3 लाख का सब्जी खेत मे ही खराब हो गया मंडी तक पहुँच ही नही पाया.

रामसिंह बताते है पिछले साल के नुक्सान को देखते हुए इस साल हमने सब्जी कम लगाया है,इसक बावजूद हमे इस साल भी फसल का उचीत मूल्य नही मिलने का डर सता रहा है.

Also Read: बढ़ते कोरोना केसेस पर शिवराज सरकार के मंत्री ने कहा,”उम्र के बाद लोगों को मरना ही हैं”

Also Read: हिरासत में रखे गए रोहिंग्या मुसलमानों की नहीं होगी रिहाई – Supreme Court

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *