Facebook नहीं है निष्पक्ष? बीजेपी नेताओं के हेट भाषणों पर नहीं की करवाई – रिपोर्ट

Facebook और BJP के रिश्तों को लेकर ‘ द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि Facebook ने बीजेपी नेताओं के हेट भाषणों को अपने प्लेटफॉर्म से नहीं हटाया.

इस रिपोर्ट के सामने आने पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा, rss और bjp ही फेसबुक और वॉट्सएप को चला रही है. राहुल गांधी के इस बयान पर बीजेपी ने पलटवार करते हुए, कैम्ब्रिज एनालिटिका के रिश्तों पर निशाना साधा.

रिपोर्ट में क्या बताया गया है

रिपोर्ट में दावा किया गया था कि फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी डायरेक्‍टर अनखी दास ने स्‍टाफ से कहा कि ‘बीजेपी नेताओं की पोस्‍ट्स हटाने से देश में कंपनी के कारोबार पर असर पड़ेगा.’ फेसबुक के लिए यूजर्स के लिहाज से भारत सबसे बड़ा बाजार है.

रिपोर्ट में टी राजा सिंह की एक पोस्‍ट का हवाला दिया गया था जिसमें कथित रूप से अल्‍पसंख्‍यकों के खिलाफ हिंसा की वकालत की गई थी. WSJ रिपोर्ट के अनुसार, फेसबुक के इंटरनल स्‍टाफ ने तय किया था कि ‘खतरनाक व्‍यक्तियों और संस्‍थाओं’ वाली पॉलिसी के तहत राजा को बैन कर देना चाहिए.

फेसबुक ने आरोपों पर क्‍या कहा?

फेसबुक के प्रवक्‍ता एंटी स्‍टोन ने कहा कि दास ने राजनीतिक अस्‍थ‍िरता को लेकर चिंता जाहिर की थी। हाालांकि स्‍टोन के मुताबिक, राजा को फेसबुक पर रहने देने के पीछे सिर्फ यही एक वजह नहीं थी. रिपोर्ट के अनुसार, WSJ के सवाल करने के बाद राजा की कुछ पोस्‍ट्स को डिलीट कर दिया गया.

उन्‍हें अब फेसबुक पर आधिकारिक अकाउंट बनाने की अनुमति नहीं है. एक ईमेल में कंपनी के प्रवक्‍ता ने कहा, “हम हेट स्‍पीच या हिंसा केा बढ़ावा देने वाले कॉन्‍टेंट को प्रतिबंधित करते हैं और इस तरह की नीतियों को पूरी दुनिया में किसी की राजनीतिक स्थिति से इतर लागू करते हैं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *