हाइड्रोक्सी क्लोरोक्विन दवा से Corona का इलाज संभव, ICMR ने दी इसके उपयोग की मंजूरी

कोरोना वायरस (coronavirus) की रोकथाम के लिए भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद द्वारा गठित नेशनल टास्‍क फोर्स ने कोविड-19 के हाई रिस्‍क मामलों में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वी (hydroxychloroquine) को रिकमेंड किया है। इसके साथ ही मलेरिया की दवा (हाइड्रोक्सी-क्लोरोक्विन) के इस्तेमाल को लेकर एक अहम एडवाइजरी भी जारी की है। एडवाइजरी में लोगों को कोरोना की आशंका के आधार पर इस दवा के सेवन से बचने की हिदायत दी गई है। साथ ही कहा गया है कि केवल हाईरिस्क में काम करने वाले लोगों को ही यह दवा दी जाए। इनमें हेल्थकेयर वर्कर या फिर फिर जिन्हें टेस्ट में इसकी पुष्टि हो गई है, वे लोग शामिल हैं।

दरअसल, अमेरिका और फ्रांस की ओर से इसके प्रभावी होने की बात कहे जाने के बाद लोगों द्वारा इस दवा का अपने आप से दवा की दुकानों से खरीदकर इस्तेमाल करने की सूचनाएं मिल रही थी। इसके साथ ही टास्क फोर्स ने दवा विक्रेताओं से इस दवा को सिर्फ रजिस्टर्ड डाक्टरों के पर्चे पर ही किसी को देने का निर्देश दिया है।वहीं ड्रग्स कंट्रोलर जनरल आफ इंडिया से इसके प्रतिबंधित इस्तेमाल की मंजूरी देने की भी सिफारिश की है। उक्‍त एडवाइजरी को इसलिए अहम माना जा रहा है क्योंकि मलेरिया के ईलाज में इस्तेमाल होने वाली इस दवा का कोरोना को लेकर मुकम्‍मल ट्रायल नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *