India China Border: चीन के बाद भारत ने भी सीमा पर बढ़ाई सैनिकों की संख्या

India china border

India China Border के पूर्वी लद्दाख सीमा पर तनाव जारी है. दोनों देशों के बीच राजनयिक बातचीत चल रही हैं लेकिन इस बीच चीन ने सीमा पर अपने सैनिकों और हथियारों की संख्या बढ़ा दी है. जिसके जवाब में भारत ने भी अपने सैनिकों की संख्या को बढ़ा दिया है.

पूर्वी लद्दाख में एलएसी (LAC) पर दोनों देशों कि सेनाएं पिछले 5 मई से आमने-सामने है. इस बीच सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवाने ने भी लद्दाख सीमा का दौरा किया था. जिसके बाद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि भारत सीमा पर जारी अपना निर्माण कार्य नहीं रोकेगा.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने रविवार को सेना के एक अधिकारी के हवाले से बताया कि 25 दिनों से पूर्वी लद्दाख के विवादित क्षेत्रों में चल रहे विवाद के बीच भारत और चीन की सेनाएं सैन्य अड्डों पर भारी उपकरण और तोप व युद्धक वाहनों समेत हथियार प्रणालियों को पहुंचा रहे हैं.

चीन सेना की तैयारी

सूत्रों के मुताबिक चीनी सेना धीरे-धीरे पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के करीब अपने ठिकानों पर अपने तोपखाने की तोपों, पैदल सेना के लड़ाकू वाहनों और भारी सैन्य उपकरणों के साथ पहुंच रही है.

भारतीय सेना भी जमा कर रही है हथियार

चीनी सेना को जवाब देने के लिए भारतीय सेना भी अतिरिक्त सैनिकों के साथ-साथ आर्टिलरी गन जैसे उपकरणों और हथियारों को एकत्रित कर रही है. सूत्रों ने कहा कि जब तक कि पंगोंग त्सो, गैलवान घाटी और कई अन्य क्षेत्रों में हालात बहाल नहीं हो जाते तब तक भारत अपने सैनिकों और हथियारों को तैनात रखेगा.

सेना का फेक वीडियो हो रहा वायरल

भारत और चीन तनाव के बीच भारतीय सेना का एक वीडियो वायरल हो रहा हैं जिसमें दोनों देशों के बीच हिंसक झड़प हो रही है. इस वीडियो पर सेना ने कहा कि वीडियो में दिख रही चीजें प्रामाणिक नहीं हैं. इसे उत्तरी सीमाओं पर स्थिति से जोड़ने का प्रयास दुर्भावनापूर्ण है.’’

सेना ने अपने बयान में कहा कि दोनों देशों के बीच सीमा प्रबंधन पर स्थापित प्रोटोकॉल के तहत दोनों पक्षों के बीच मतभेदों का सैन्य कमांडरों के बीच वार्ता के माध्यम से समाधान किया जा रहा है.

India-China बार्डर तनाव के बीच वायरस हो रहा हैं यह वीडियो

Posted by Expertkhabari on Sunday, 31 May 2020

क्यों है यह तकरार

दोनों देशों के बीच यह तकरार की शुरूआत चीन द्वारा की गई, जब भारत पैंगोंग त्सो के आसपास फिंगर क्षेत्र में और गलवान घाटी में दारबुक-शयोक-दौलत बेग ओल्डी को जोड़ने वाली एक महत्वपूर्ण सड़क के निर्माण कर रहा था. जिस पर चीन ने कड़ा विरोध जताया, तब से ही यह सीमा पर तनाव जारी है.

गौरतलब है कि चीन के इस विरोध के बाद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने सैन्य अधिकारियों के बाद बैठक में साफ कर दिया था कि भारत किसी भी कीमत पर यह निर्माण कार्य नहीं रोकेगा.

Also Read: चीन के साथ तनाव पर राजनाथ सिंह ने कहा बना के रहेंगे सड़क

Also Read: महिला पत्रकार के सवाल से नाराज डोनाल्ड ट्रंप ने बीच में ही रद्द की प्रेस कॉन्फ्रेंस

Source: News 18 & Amar Ujala

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *