इंडिगो के दो विमान आए आमने-सामने, बाल-बाल बचे 328 यात्री

बेंगलुरु। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में एक बड़ी दुर्घटना होते-होत बच गई। इंडिगो के दो विमान आसमान में आमने-सामने आ गए। इनमें से एक विमान का संचालन कोयंबटूर-हैदराबाद के बीच था तो दूसरे का बेंगलुरु-कोच्चि के बीच।

अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया के मुताबिक, यह दुर्घटना मंगलवार को टल गई, जिस बारे में गुरुवार को बयान जारी कर जानकारी दी गई। 10 जुलाई के दिन बेंगलुरु के आसमान के ऊपर उड़ान भर रहे 2 इंडिगो एयरलाइंस के विमान एक-दूसरे के काफी करीब आ गये। सेकेंड भर के फासले पर दोनों विमान थे, लेकिन सही समय पर सतर्कता बरती गयी और बड़ा हादसा होते-होते बच गया।

328 यात्री थे सवार
इंडिगो के मुताबिक, हैदराबाद की फ्लाइट में करीब 162 पैसेंजर थे। वहीं, कोच्ची की फ्लाइट में करीब 166 पैसेंजर्स थें, जिन्‍होंने हादसा टल जाने के बाद राहत की सांस ली। सूचना मिलते ही दोनों विमानों का मार्ग बदल दिया गया। अगर वे अपने मार्ग पर बने रहते तो कुछ ही सेकेंड्स में बड़ा हादसा हो सकता था।

इंडिगो के जो विमान करीब आ गए थे, उनमें उड़ान संख्‍या 6E 779 और 6E 6505 शामिल थी। इंडिगो की उड़ान संख्‍या 6E 779 कोयंबटूर से हैदराबाद जा रही थी, जबकि उड़ान संख्‍या 6E 6505 बेंगलुरु से कोच्चि के मार्ग में थी। एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (ATC) ने इंडिगो की उड़ान संख्‍या 6E 779 से 36,000 फुट की ऊंचाई पर उड़ान भरने के लिए कहा था, जबकि उड़ान संख्‍या 6E 6505 से 28,000 फुट की ऊंचाई पर उड़ने के लिए कहा गया था।

हालांकि दोनों विमान उस वक्‍त आमने-सामने आ गए, जब 6E 779 हवा में 27,300 फुट की ऊंचाई पर और उड़ान संख्‍या 6E 6505 आसमान में 27,500 फुट की ऊंचाई पर थी। दोनों विमानों के बीच केवल चार मील की दूरी रह गई थी और वर्टिकल दृष्टि से उनके बीच केवल 200 फुट का फासला था। इसके बाद ट्रैफिक अलर्ट और कोलिजन अवॉडेंस सिस्‍टम (TCAS) को एक्‍टीवेट किया, जिससे एक बड़े हादसे को टाला जा सका।

Khaskhabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *