Lockdown के बीच शादी करने के लिए 850 किलोमीटर चलाई साइकिल और अरमानों पर फिर गया पानी

Coronavirus Lockdown Marriage
कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते हुए लॉकडाउन (Lockdown) ने हमारे जीवन को बदल दिया है. हमारी रोजमर्रा का काम-काज बदला हुआ है. जरुरी काम भी नहीं कर पा रहे है. ऐसे में ही एक शख्स की शादी लॉकडाउन के कारण नहीं हो पाई.

देश में वीवीआईपी (VVIP) लोगों के यहां शादियों तो हो रही हैं लेकिन गरीब जनता के लिए शादी कैंसिल करने के आलावा कोई दूसरा चारा नहीं है. ऐसा ही कुछ देखने को मिला सोनू के साथ जिनकी शादी 15 अप्रैल को होनी थी.

शादी के लिए उन्होंने पूरी तैयारी भी कर ली थी. रेल का टिकट था लेकिन तभी कोरोना और लॉकडाउन (Lockdown) ने उसके घर तक पहुंचने का रास्ता मुश्किल कर दिया. फिर भी उसने हार नहीं मानी. अपने तीन साथियों को उन्होंने उत्तर प्रदेश के महराजगंज चलने के लिये तैयार किया. 850 किलोमीटर साइकिल भी चला चुका था लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था.

लुधियाना से साथियों के साथ छह दिन तक लगातार साइकिल चलाकर छह अप्रैल को यह लोग गोंडा पहुंचे तो वहां इनके सात साथियों को प्रशासन ने रोक लिया। एक ही गांव के सोनू, दिलीप, वीरेंद्र व राकेश बलरामपुर होते हुए गांव के लिए चल पड़े। बलरामपुर शहर में घुसते ही प्रशासन ने इन्हें भी रोक लिया और थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद यहीं पर क्वारंटाइन कर दिया।

सोनू का कहना है कि यदि वह घर पहुंच गए होते तो दो-चार लोगों के साथ ही जाकर शादी की रस्म पूरी कर लेते. घर न पहुंचने के कारण सोनू की शादी का अरमान नहीं पूरा हो सका है.

सोनू कुमार चौहान मूल रूप से महराजगंज जनपद के पिपरा रसूलपुर का है. सोनू की गत 15 अप्रैल को शादी होनी थी. वह लुधियाना में टाइल्स लगाने का काम करते हैं.

काम बंद होने पर यह लोग अपने घर जाना चाह रहे थे. सोनू ने बताया कि उनकी शादी बीते 15 अप्रैल को गांव से करीब 25 किलोमीटर दूर तय हुई थी. शादी में आने के लिए उन्होंने ट्रेन का रिजर्वेशन भी कराया था. लॉकडाउन होने के कारण ट्रेन बंद हो गई तो वह साथियों के साथ साइकिल से ही घर चल दिये.

Also Read: Girlfriend के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद Boyfriend समेत….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *