उत्तराखंड में एक बार मुख्यमंत्री बदले जाने की आशंका, दिल्ली पहुंचे त्रिवेंद्र सिंह रावत

उत्तराखंड में एक बार फिर से मुख्यमंत्री को बदले जाने की आशंका है. प्रदेश पार्टी अध्यक्ष ने भले ही इन खबरों पर रोक लगा दी हो, लेकिन मुख्यमंत्री के अचानक दिल्ली दौरे से एक बार फिर से अटकलें तेज हो गई है.

खबरों की मुताबिक, यह अटकलें ऑब्जर्वर की रिपोर्ट के बाद तेज हुई है. दरअसल बीजेपी ने राज्य में सत्ता और संगठन के बिगड़े तालमेल की असलियत जानने के लिए दिल्ली से ऑब्जर्वर भेजे. इन ऑब्जर्वर ने केंद्रीय नेताओं को जो रिपोर्ट दी है उससे उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा तेज हो गई है.

नेता बदलने की भाजपा में पहले से परंपरा
भाजपा में मुख्यमंत्री बदलने की परंपरा उत्तराखंड के गठन से बाद से ही होती रही है. पहले नित्यानंद स्वामी को हटाकर उनके स्थान पर भगत सिंह कोश्यारी को मुख्यमंत्री बना दिया गया था. फिर मेजर जनरल (अ.प्रा.) भुवन चंद्र खंडूड़ी के को हटाकर डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक को सीएम बनाया गया था. इसके बाद फिर अगला चुनाव खंडूड़ी के नाम पर लड़ा गया. इसी तरह त्रिवेंद्र सिंह रावत को सीएम बने चार साल पूरे हो रहे हैं.

मीडिया सुत्रों की माने तो यह सब कवायद अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर हो रही है. खबरों की माने तो राज्य में बीजेपी को कांग्रेस के अलावा आम आदमी पार्टी से भी चुनौती मिल रही है. इसलिए पार्टी अपनी स्थिति मजबूत करना चाहती है.

Also Read: अंबानी के घर के पास से मिली संदिग्ध गाड़ी के मालिक ने की आत्महत्या, शक गहराया

Also Read: GDP: माइनस से प्लस में हुई भारतीय अर्थव्यवस्था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *